बीर बिलिंग हिमाचल – शांत वातावरण और एडवेंचर का अद्भुत संगम

बीर बिलिंग – दोस्तो हम सब ज़िन्दगी की भाग दौड़ से कभी ना कभी थोड़े समय के लिए छुटकारा चाहते हैं। ऐस समय में हमारी इच्छा होती है कि किसी शांत जगह पर जाकर कुछ दिन बिताएं और अपनी व्यस्तताओं को भूल जाएं। अगर इसके साथ ही हमें कुछ ऐसी गतिविधियां करने को मिल जाएं जो हमारे अंदर उत्साह का संचार कर दें तो सोने पे सुहागा वाली बात हो जाती है। ऐसी ही एक जगह के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं। इस जगह का नाम है बीर बिलिंग। यह एक ऐसी जगह है जिसके बारे में अपेक्षाकृत कम लोगों को पता है और इसी वजह से यहां आपको ज़्यादा भीड़ नहीं मिलेगी। प्रकृति की गोद में बसी यह जगह अपनी सुंदरता के साथ साथ अपने शांत वातावरण और रोमांचकारी गतिविधियों के लिए भी जानी जाती है।

शिमला के दर्शनीय स्थल

बीर बिलिंग कहाँ स्थित हैं?

हिमाचल प्रदेश के काँगड़ा की जोगिन्दरनगर वैली में स्थित बीर बिलिंग को भारत में पैराग्लाइडिंग का गढ़ माना जाता है। बीर बिलिंग का नाम दो स्थानों के नामों को जोड़ कर बना है। बिलिंग से पैराग्लाइडिंग की शुरुआत होती है जो बीर पर जाकर ख़त्म होती है। इसीलिए इसे बीर बिलिंग कहा जाता है। बीर एक छोटा सा गाँव है जो इको टूरिज्म, ध्यान और आध्यात्म के लिए जाना जाता है। यहां पर तिब्बत के शरणार्थी बड़ी संख्या में बेस हुए हैं। यहां की प्राकृतिक सुंदरता, चारों और फैले पहाड़ और रंग बिरंगी बौद्ध धर्म की मोनैस्ट्रियाँ आँखों को असीम ठंडक प्रदान करती हैं। सबसे अच्छी बात है कि अन्य बड़े हिल स्टेशनों की तुलना में यहां बहुत काम भीड़ मिलती है जिससे यहां का वातावरण काफी शांत रहता है। साथ ही काफी मोनैस्ट्रियाँ होने के कारण हमेशा आध्यात्मिक माहौल रहता है।

लेकिन आध्यात्मिकता के अलावा भी इस छोटी सी जगह में देखने और करने के लायक इतना कुछ है कि आपका यहां से जाने का मन नहीं करेगा। बीर में देखने वाली कुछ प्रमुख जगहों के बारे में आपको बताते हैं।

बीर बिलिंग में क्या देखें?

चोकलिंग मोनेस्ट्री

बीर की सबसे खूबसूरत और आकर्षक मोनेस्ट्री है चोकलिंग मोनेस्ट्री। यह सुंदरता और सांस्कृतिक प्रचुरता का प्रतीक है। यहां अंदर कदम रखते ही यह जगह आपको सम्मोहित कर देगी। यहां की भव्यता और शान्ति को देखकर एक बार आप का मन ज़रूर कहेगा कि यहीं रह जाएं। चोकलिंग मोनास्ट्री का प्रमुख आकर्षण है एक विशाल स्तूप और पद्मसंभव की आकर्षक मूर्ति। मोनेस्ट्री के प्रवेश पर शिल्पकला द्वारा और कई प्रकार के पत्थरों पर चित्रकारी करके अनेक तिब्बती सन्यासियों और उनके जीवन की कहानियों को दर्शाया गया है।

ध्यान केंद्र के आगे एक बहुत बड़ा हरा भरा उद्यान है जिसमें कई रंग बिरंगे झंडे हवा में फड़फड़ाते हुए नज़र आते हैं जो एक अलग ही प्रकार की अनुभूति देते हैं। चोकलिंग मोनेस्ट्री के अंदर एक रेस्त्रां भी है जहां आप तिब्बती व्यंजनों का आनद ले सकते हैं। इसके साथ ही अंदर एक गेस्ट हाउस भी है। चोकलिंग मोनेस्ट्री में कुछ समय बिताकर ना सिर्फ आप इसकी सुंदरता का आनंद लेंगे बल्कि आपको एक अंदरूनी शान्ति का भी अनुभव होगा।

तिब्बती कॉलोनी

बीर के बाहरी छोर पर स्थित इस तिब्बती कॉलोनी को वर्ष 1960 में बसाया गया था। हिमालय के चौगान गाँव में तिब्बती शरणार्थियों के पुनर्वास के लिए इस कॉलोनी का निर्माण किया गया था। दरअसल जब तीसरे नेतन चोकलिंग कुछ लोगों के समूह के साथ भारत आए तो उन्होंने करीब 300 घरों वाली इस कॉलोनी को बनाया। यहां के रंग बिरंगे घर और उन पर फहराते रंग बिरंगे झंडे एक बेहद दिलकश नज़ारा पेश करते हैं। तिब्बती कॉलोनी में आप तिब्बती संस्कृति और भोजन का पूरा आनंद ले सकते हैं।

यहां पर एक हस्तशिल्प केंद्र भी है जहाँ स्थानीय लोगों द्वारा हाथ से बनाए गए विभिन्न उत्पाद मिलते हैं। यहां से आप कई सुंदर और आकर्षक चीज़ें यादगार के तौर पर खरीद सकते हैं। साथ ही यहां कई तिब्बती रेस्त्रां हैं जहां आप स्वादिष्ट तिब्बती व्यंजनों का लुत्फ़ उठा सकते हैं। और तो और तिब्बती कॉलोनी में कई गेस्ट हाउस भी हैं जहाँ यदि आप चाहें तो रुक सकते हैं.

बीर बिलिंग टी फैक्ट्री

बीर में चाय के कई बागान हैं जहां आप हरियाली के बीच घूम कर स्वच्छ और साफ़ हवा का आनद ले सकते हैं और साथ ही प्राकृतिक सुंदरता से अपने मन को प्रसन्न कर सकते हैं। आप इन बागानों में घूमते हुए स्थानीय लोगों को चाय की पत्तियां तोड़ कर इकट्ठी करते हुए देख सकते हैं। बीर के ढलान वाले पहाड़ चाय के बागानों के लिए बिलकुल उपयुक्त हैं और यहां की सुंदरता में बढ़ोतरी करते हैं। यहां आपको आर्गेनिक चाय के बाग़ भी दिखेंगे। यदि आप की रूचि हो तो आप चाय की फैक्ट्री में जाकर पत्तियों से चाय बनाने की पूरी प्रक्रिया देख सकते हैं। अन्यथा आप दूर तक फैली हरियाली और प्राकृतिक सुंदरता का मज़ा ले सकते हैं।

धर्मालया संस्थान

धर्मालया संस्थान एक धर्मार्थ संगठन है जो एक संवेदनशील और शांतिपूर्ण जीवन के लिए शिक्षा और सशक्तिकरण के क्षेत्र में काम करता है। यह एक पर्यावरण सहेजने वाला परिसर है जहां कई प्रकार के पर्यावरण से संबंधित कार्यक्रमों की शिक्षा प्रदान की जाती है। यहां पर्यावरण को सहेजने और इसे विनाश से बचाने के कई तरीकों के बारे में बताया जाता है। यह संस्थान बीर बाजार से 4 किलोमीटर दूर है। अगर आप बीर में रहकर अपने समय कक सदुपयोग करना चाहते हैं तो आप इस संस्थान के किसी कोर्स में दाखिल होकर पर्यावरण के बारे में कुछ महत्वपूर्ण चीज़ें सीख सकते हैं जो आपको कहीं भी मदद करेंगी।

डियर पार्क इंस्टिट्यूट

बीर के प्रमुख आकर्षणों में शामिल है डियर पार्क इंस्टिट्यूट। इसे ध्यान, कला, संस्कृति और दर्शनशास्त्र के कार्यक्रमों का केंद्र माना जाता है। कई प्रसिद्ध शिक्षकों और विद्वानों के साथ यहां इन विषयों पर कई भाषण और सम्मलेन आयोजित किए जाते हैं। एक दम शांत वातावरण वाला यह स्थान बौद्ध धर्म की सांस्कृतिक विरासत को दर्शाता है। यहां का कोना कोना आपके अंदर उत्साह और प्रेरणा का संचार कर देगा। डियर पार्क इंस्टिट्यूट में एक चक्कर लगाकर ही आपको उस मानसिक शान्ति का अनुभव हो जाएगा जिसे ना जाने आप कब से खोज रहे होंगे।

बीर बिलिंग में क्या करें?

हिमाचल के बीर में करने के लिए आपको बहुत सी रोमांचकारी गतिविधियां मिलेंगी। आप अपनी पसंद और सुविधा के अनुसार इनमें से किसी को या सबको चुन सकते हैं।

पैराग्लाइडिंग – बीर में आएं और पैराग्लाइडिंग ना करें तो आप एक बहुत बड़े रोमांच से चूक जाएंगे। जैसा पहले बताया था, बीर पैराग्लाइडिंग का गढ़ है। वर्ष 2015 में यहां पैराग्लाइडिंग के विश्व कप का आयोजन किया गया था जिसमें 150 प्रशिक्षित पायलटों और करीब 500 अन्य पायलटों ने भाग लिया था। बीर और बिलिंग की दूरी 14 किलोमीटर है। इतनी दूरी तक आसमान में उड़ते हुए नीचे वादियों और हरियाली को और साथ ही नज़दीक से पहाड़ों को देखने का रोमांच आप छोड़ना नहीं चाहंगे। यदि आप एक पेशेवर पायलट के साथ पैराग्लाइडिंग करते हैं तो आप उड़ते हुए ऊपर से बेशुमार तस्वीरें भी ले सकते हैं।

ट्रेकिंग – बीर में ट्रेकिंग केलिए बहुत से विकल्प हैं। यहां आसपास बहुत से आदिवासी गाँव हैं। यदि आपको ट्रैकिंग पसंद है तो आप ट्रेकिंग करके इनगांवों तक जा सकते हैं।

कैंपिंग – अगर आप बीर जाकर पूरा समय होटल की चारदीवारी में रहते हैं तो आप प्रकृति की गोद में कुछ समय बिताने का मौका खो रहे हैं। खुले आसमान के नीचे रहने का मज़ा ही कुछ और है। अगर आप वास्तव में प्रकृति का आनंद लेना चाहते हैं तो कैंपिंग कीजिए। यहां आपको कैंपिंग किंपुरी सुविधा मिलेगी।

टॉय ट्रेन का सफर करें – बीर जैसी छोटी जगह पर टॉय ट्रेन पर सवार होकर आसपास की सुंदरता को निहारना अपने आप में एक अनुभव है। आप बीर से आह्जू तक का 3 किलोमीटर का सफर टॉय ट्रेन में करके सबसे मनोहर दृश्यों का आनंद ले सकते हैं।

बीर बिलिंग कैसे पहुंचें?

हवाई मार्ग – बीर पहुँचने के लिए सबसे नज़दीक हवाई अड्डा धर्मशाला में गग्गल है जो यहां से 67 किलोमीटर दूर है। गग्गल हवाई अड्डे पर सभी बड़े शहरों से उड़ानें आती हैं। यहां से बीर पहुँचने के लिए आपको टैक्सी मिल जाएगी।

रेल मार्ग – बीर पहुँचने के लिए सबसे नज़दीक बड़ा रेलवे स्टेशन पठानकोट है जो 140 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। पठानकोट से बीर के लिए नियमित बसें उपलब्ध हैं। आप यहां से टैक्सी भी कर सकते हैं। इसके अलावा आप टॉय ट्रेन का सफर भी कर सकते हैं लेकिन उसपर आपको कहीं ज़्यादा समय लगेगा जो करीब सात घंटे है और वह आपको आह्जू एक ले जाएगी जहाँ से आपको टैक्सी करनी होगी।

सड़क मार्ग – बीर अन्य शहरों से अच्छी सड़कों द्वारा जुड़ा हुआ है लेकिन यहाँ के लिए कोई नियमित बस सेवा नहीं है। दिल्ली से दो बसें बैजनाथ के लिए चलती हैं जो यहाँ से 10 किलोमीटर दूर है। बीर के लिए टैक्सी मिल जाएगी।

बीर बिलिंग में कहाँ रुकें?

बीर में आपको कई प्रकार के गेस्ट हाउस और होटल मिल जाएंगे। इनमें से अधिकतर बीर के दक्षिण में चौगान गाँव के पास स्थित हैं।

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *