एलआईसी कैलकुलेटर – एलआईसी ऑफ इंडिया प्रीमियम कैलकुलेटर 2019

एलआईसी इन्शुरन्स पॉलिसी पॉलिसीधारकों की वित्तीय ज़रूरतों को पूरा करती हैं और हमेशा हमेशा लोगों को दोहरे लाभ प्रदान करती हैं। एलआईसी में पेंशन इन्शुरन्स पॉलिसियां भी है ​​जो हमारी राशि को दोगुना से तिगुना कर देती हैं। एलआईसी कैलकुलेटर एक बेहतर बचत उपकरण है जो हमारे लाइफ के कुछ पैसे कठिन समय के लिए बचाने मे सहायता करता है। आजकल, जैसा कि हम सभी जानते हैं कि दैनिक लाइफ की चीजें बहुत महंगी हो रही हैं और इस स्थिति में, हमें अपने परिवार के लिए अधिक इकट्ठा करने की आवश्यकता है।

लाइफ इन्शुरन्स प्लान के कुछ नियम और दिशानिर्देश होते हैं और पॉलिसी जब तक ही मान्य होती है जब तक समय पर प्रीमियम का भुगतान किया जाता है। यदि हम लाइफ इन्शुरन्स पॉलिसियों का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो हमें अपने इन्शुरन्सकर्ता के माध्यम से पहले सभी नियमों और दिशा-निर्देशों की जानकारी प्राप्त करने की आवश्यकता होती है। लाइफ इन्शुरन्स पॉलिसियों का प्रीमियम उस पॉलिसी पर निर्भर करता है जिसे हम स्वयं के लिए चुनते हैं। ये पॉलिसी 50 की आयु से पहले ही खरीद लेनी चाहिए क्योंकि इसके बाद कुछ मेडिकल जाँच की आवश्यकता पड़ती हैं। कई कारक है जो प्रीमियम को निर्धारित करते हैं, इसलिए इन कारको को जानना ज़रूरी होता हैं।

एलआईसी कैलकुलेटर के माध्यम से प्रीमियम की गणना कैसे करें

एलआईसी कैलकुलेटर एक ऐसा टूल है जो हमें प्रीमियम की अनुमानित राशि दर्शाता है और आप इन्शुरन्सकर्ता से पॉलिसी के प्रीमियम के बारे मे सलाह कर सकते हैं। पॉलिसी की जाँच उन्हे कंपेर करना हमेशा लाभ के रूप मे पॉलिसी में अतिरिक्त राशि जोड़ने के लिए सहायक होता हैं। एलआईसी टूल में वो सभी डेटा होते हैं जो पॉलिसी प्रीमियम के बारे में सभी विवरण प्रदान करते हैं। इस टूल के माध्यम से प्रीमियम की गणना करने के लिए कुछ बेसिक जानकारी सब्मिट करने की आवश्यकता होती हैं। कुछ बेसिक जानकारी नीचे बताई गयी है:

  • आपको पॉलिसी का नाम जाँचना होगा
  • आवेदक की आयु
  • बीमित राशि का चयन
  • प्रीमियम मोड
  • पॉलिसी की अवधि
  • दुर्घटना लाभ

आपको पॉलिसी का नाम जाँचना होगा

इस टूल में सबसे पहले सब्मिट करने वाला विकल्प पॉलिसी का नाम होता है। दरअसल, एलआईसी पॉलिसी खोजने के लिए पॉलिसी को उनके नाम के साथ जारी करता है। किसी को भी सुनिश्चित करने के लिए, इन्शुरन्सकर्ता हमेशा पॉलिसी के अन्य विवरणों के बजाय पॉलिसी के नाम की जांच करता है। पॉलिसी के नाम की जांच करने के बाद व्यक्ति प्रीमियम कैलकुलेटर में अगला कदम उठाता है। प्रीमियम कैलकुलेटर एक प्रभावी टूल है जो व्यक्तियों को अपने घर पर आराम से पॉलिसी के प्रीमियम की गणना करने का अवसर प्रदान करता हैं।

आवेदक की आयु

जो लोग सोचते हैं कि एलआईसी पैसे की बर्बादी है तो लोग गलत सोचते हैं क्योंकि यह एक कुशल तरीका है जो बिना किसी नुकसान के राशि को जमा करने, बढ़ाने और लाइफ कवर की नयी तकनीक देता है। यह आपकी कुल कमाई का एक हिस्सा जमा करने और लाइफ की परिस्थितियों का सामना करने के लिए उस कमाई का उपयोग करने का अवसर देता है। एक और महत्वपूर्ण कारक उम्र है जो पॉलिसी के प्रीमियम के लिए महत्वपूर्ण हैं। एलआईसी की पॉलिसी के तहत आने वाले फ़ायदों के बारे में उम्र का सही-सही पता लगाना आवश्यक है। उम्र भरना आवश्यक है क्योंकि 50 की आयु के बाद लोगों को कुछ मेडिकल परीक्षा से भी गुजरना पड़ सकता है।

बीमित राशि का चयन

इन्शुरन्सकर्ता द्वारा दी जाने वाली राशि का आश्वासन देने के लिए कैलकुलेटर में स्वचालित रूप से उस पॉलिसी द्वारा दिया जाता है जिसे वह कैलकुलेटर में मासिक / त्रैमासिक आदि चुनने के लिए भुगतान करता है, आप कुल राशि देख सकते हैं जो आप दिए गए समय-अवधि में किस्त में भुगतान करते हैं। । योग को आश्वस्त करने की आवश्यकता है क्योंकि संपूर्ण प्रीमियम का भुगतान करने के लिए कुल योग की आवश्यकता होती है। दरअसल, पॉलिसी के अंत में प्रीमियम का लाभ प्राप्त करना भी आवश्यक है।

प्रीमियम फ्रीक्वेंसी

आपके बजट की जांच करने के लिए प्रीमियम की आवृत्ति आवश्यक है और आप अपनी आवश्यकताओं के अनुसार आवृत्ति का चयन कर सकते हैं। बहुत सारी ज़रूरतें हैं जो हर इंसान चाहता है और प्रीमियम फ्रीक्वेंसी का विकल्प उस हिस्से को पूरा करता है। आपको इस प्रीमियम आवृत्ति द्वारा सभी विवरण मिलते हैं और यह उस कुल राशि को भी दर्शाता है जिसे आप किश्तों में भुगतान करते हैं। यह उन समय के मुद्दों को भी दर्शाता है जो आपको प्रीमियम की परिपक्वता अवधि जानने में मदद करते हैं।

योजना की अवधि

योजना की अवधि भी दी जाती है जब आप उस पालिसी को चुनते हैं जिसे आप चाहते हैं। उसके बाद, आपको उस भुगतान का चयन करने की आवश्यकता है जो आप एलआईसी के त्रैमासिक / मासिक भुगतान करते हैं। योजना का हिस्सा उस पालिसी पर निर्भर करता है जिसे आप चुनना चाहते हैं और कंपनी द्वारा आपकी जेब के अनुरूप बहुत सारी नीतियां प्रदान की जाती हैं। यहां तक ​​कि आप अपनी जरूरतों के हिसाब से टर्म प्लान चुन सकते हैं लेकिन अगर आप किसी एक प्लान को चुन रहे हैं तो आपको ज्यादा ब्याज का फायदा मिलेगा। ब्याज के बाहरी लाभ उस पालिसी पर निर्भर करते हैं जिसे लोग 20 साल या 30 साल आदि के लिए चुनते हैं।

दुर्घटना के दौरान वैध है या नहीं

जैसा कि आपने इन्शुरन्स पॉलिसी के बारे में सुना था लेकिन दुर्घटना के समय कुछ पॉलिसी मान्य होती हैं। इसलिए, यदि आप अपने परिवार का इन्शुरन्स कराना चाहते हैं, तो पहले इन्शुरन्सकर्ता से सलाह लें, फिर करें। दुर्घटना के दौरान अमान्य होना एक अन-सुना लाभ है जो आपके परिवार का जीवनसाथी है जब आप इस घटना या दुर्घटना का सामना करते हैं।

एलआईसी ई-टर्म प्लान
एलआईसी जीवन सरल पालिसी
एलआईसी बेस्ट प्लान्स 2019
एलआईसी कन्यादान पालिसी
एलआईसी नवजीवन पालिसी
एलआईसी माइक्रो बचत
एलआईसी जीवन लाभ
एलआईसी ऑफ़ इंडिया
एलआईसी जीवन अमर

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *